Mutual Fund और Fixed Deposit क्या फरक है Difference Between Mutual Fund And Fixed Deposit

1
mutual fund fixed deposit scheme
mutual fund fixed deposit scheme
0 0
Read Time:11 Minute, 41 Second

Difference Between Mutual Fund And Fixed Deposit

जहा पुरे देश में कोरोना के वजह से सारे देश की अर्थववस्था टसमस हो गई है। यैसे में आपके मन में सवाल आता होगा की कोनसा बिज़नेस करे या हमारे पैसे को कहा इन्वेस्ट में करे। आज के इस पोस्ट में मई आपको बताने जा रहा हु कोनसा तरिएका बेस्ट है। यह आपको बताने जा रहा हु। और अगर कोई अगर सेव करना चाहता है अपने पैसे को तो कहां से यह बहुत बड़ा सवाल हमारे मन में आता है तो आज के इस पोस्ट में मैं आपका सवालों का हल लेकर आया हूं जो कि पसंद आएगा।

आज के इस पोस्ट ने 2 तरीके बताओ का जिसमें से कौन सा बेहतर है और किस में ज्यादा रिटर्न आता है और किस ने हमें ज्यादा मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं तो इस पोस्ट के साथ बने रहेंगे और आप हमारे वेबसाइट को सेट कर रही है तो सब्सक्राइब जरूर करें।

इंडिया की बात करें तो सेविंग स्कीम में लोगों की सबसे ज्यादा पसंद देखने को मिलती है। इसका कारण भी वैसा ही है। क्योंकि लोग किसी भी स्क्रीन पर जल्दी से भरोसा नहीं करते। और उससे भी ज्यादा लोगफिक्स डिपाजिट पर भरोसा करते हैं।

बहुत कालू से लोगों का विश्वास है एफबी पर है और आज भी लोग या बड़ी पर और सेविंग स्कीम पर ज्यादा भरोसा करते हैं मगर दोस्तों इसमें आपको कितना ब्याज मिलता है यह सभी आपको तो पता है फिर भी लोग जो जहां सिक्योरिटी होती है वहां ही पैसा इन्वेस्ट करना चाहते हैं। लोगों को आज भी बहुत से ऐसे स्कीम उनको बारे में नहीं पता जहां वह इन्वेस्ट कर के पास से 10 सालों में अपने पैसों को 3 गुना तक बढ़ा सकते हैं। आज मैं आपको ऐसे ही एफडी और म्यूचुअल फंड में क्या डिफरेंस है और कौन सा बेहतर है इसके बारे में बात करने वाला हूं।

और शेयर मार्केट की बात करें तो आज लोग उसने भी अपना हाथ आजमा रहे हैं और बहुत से ऐसे लोग हैं यहां से अच्छा रिटर्न प्राप्त करके अपनी पैसे को 10 गुना तक बढ़ा रहे हैं। इसके लिए आपको पता होना चाहिए कि कौन सी शेयर मार्केट की स्कीम अच्छी है तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैं वही आपको बताने जा रहा हूं तो इस पोस्ट के साथ बने रहे।

तो दोस्तों आज मैं आपको म्यूचुअल फंड के बारे में बात करने जा रहा हूं यह भी एक अच्छी स्कीम है जो कि आपको शेयर मार्केट से पैसे कमाने का अच्छा तरीका है जैसे आप बैंक में सेविंग करते हैं अपने पैसों को सेव करते हैं हर महीने कुछ ना कुछ सेव करते हैं उसी तरह का यह भी एक स्कीम यहां पर भी आपके पैसे को हर महीने कुछ ना कुछ अमाउंट देकर आपको 5 से 10 साल के लिए यहां पर निवेश करना होता है। म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं उसे या चाय पी सिस्टम कहा जाता है।

अगर आप चाहते हैं कि देश के नंबर वन फुल सर्विस ब्रोकर के साथ अपना फ्री में d-mart अकाउंट ओपन करना तो दोस्तों आपको सबसे बेहतर ऐसा एक तरीका है जो कंपनी है जो इंडिया की फुल सर्विस ब्रोकर है उसका नाम है एंजल ब्रोकिंग अच्छा ऑप्शन है जहां आपको फ्री में बहुत सी चीजें मिलती है।

एंजल ब्रोकिंग में फ्री डिमैट अकाउंट खोलने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

१) 1 साल के लिए फ्री एएमसी

२) स्मार्ट एपीआई

३) स्मॉल केस

४) ₹20 ब्रोकरेज चार्जेस

५) पर्सनल एडवाइजर

इन सभी का फायदा आपको एंजेल ग्रुप में demart अकाउंट ओपन करने से जलता है। शेयर मार्केट मैं अगर आप पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको जरूर होती है डीmat अकाउंट नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप फ्री में अपना दिमाग अकाउंट ओपन कर सकते हैं।

फ्री डीमैट अकाउंट

Difference Between Mutual Fund And Fixed Deposit in Hindi

दोस्तों यदि और म्यूचुअल फंड में कौन सा सबसे बेहतर है यह जानने से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि इन दोनों में फर्क क्या है तो चलो जानते हैं फिक्स डिपाजिट क्या है ?

एफबी का मतलब होता है आपने अपने पैसे पैसे को बैंक में सेव किया है कुछ सालों के लिए यह लिमिट 5 साल 10 साल 15 साल 20 साल का अवधि हो सकता है। मगर आपने कभी यह सोचा है कि आप जो 10 साल के लिए 15 साल के लिए अपने पैसों को बैंक में रखते हैं उन पैसों का बैंक क्या करती है।

तो मैं आज आपको बताना चाहता हूं कि आपके पैसों को बैंक लोन के तौर पर लोगों को देती है यानी कि आपका पैसा बैंक यूज़ करके उन पैसों को लोन देकर वह लोन पर्सनल लोन हो सकता है कार लोन हो सकता है होम लोन हो सकता है और सभी प्रकार के लोन बैंक के तरफ से दिए जाते हैं वह भी आपके पैसों में से , मगर दोस्तों आपने यह सोचा है कि उस पैसों का व्यास बैंक लेती है और उस ब्याज में से एक हिस्सा आप को दिया जाता है जो कि आपका जब पैसा रिटर्न दिया जाता है उसके साथ वह जोड़ कर दिया जाता है यानी कि अगर ₹10 अगर बैंक कम आती है तो आपको सिर्फ ₹1 दिया जाता है ऊपर के ₹9 वह बैंक अपने खुद के लिए यूज करती हैं यानी कि पैसा आपका बैंक दूसरों को देती है उससे कमा लेती है।

यानी आपको फिक्स डिपाजिट का मतलब यहां पर समझ में आ गया होगा। तो आप भली-भांति जान चुके होगे के फिक्स्ड डिपॉजिट में अपने पैसों को बैंक कैसे यूज करती है। मगर आपके मन में एक है कि हमारे पैसे बैंक में सुरक्षित रहते हैं मगर सुरक्षित रहते हैं इसका जवाब आपने अभी कुछ दिनों पहले जो कि पीएमसी बैंक के साथ और एस बैंक के साथ हुआ था वह जो घपला वह आपको भली भांति याद होगा यहां पर बैंक डूब गई थी यानी कि लोगों के पैसे भी यहां डूब गए थे तो इस पर आप सोच रहे होगे कि अपने पैसे कितने सुरक्षित है बैंक में। मगर दोस्तों को बैंक आपसे एक इंश्योरेंस करवाती है उसके तहत अगर बैंक डूब जाती यानी कि वह बैंक बंद हो जाती है तो आपके पैसे अगर आपने ₹1000000 इन्वेस्ट किए हैं तो बैंक आपको उसके बदले ₹500000 रिटर्न दे सकती है यानी कि 50% की सिक्योरिटी आपको मिलती है।

म्यूच्यूअल फंड क्या है।

आज छम जाने की म्यूच्यूअल फंड क्या है और उसको म्यूचल फंड में पैसा लगाना कितना सिक्योरिटी है। इतना रेट ऑफ इंटरेस्ट हार्वेस म्यूचल फंड में मिलता है। म्यूच्यूअल फंड के बारे में विस्तार से जानने से पहले हम जान लेते हैं म्यूचुअल फंड में हम जो पैसा लगाते हैं आप जिस एएमसी में पैसा लगाते हैं वह एमसी आपके पैसे को टॉप हंड्रेड कंपनीज के शेयर्स में इन्वेस्ट करती है यानी कि आप से पैसे से आप सो ऐसी कंपनी के मालिक बन जाते हैं। जाने कि आप के नाम पर उस कंपनी की हिस्सेदारी हो जाती है। तो दोस्तों आप यह सोचते हैं कि अगर यह सब कंपनी में से अगर 10 कंपनी भी अगर प्रॉफिट में आती है तो आपका पैसा प्रॉफिट में होगा तो यही फंक्शन है जो कि म्यूचुअल फंड में काम करता है। और उसी के साथ म्यूचल फंड में आप जान सकते हैं कि आपका पैसा कौन से कंपनी में लगाया है कौन से प्रोडक्ट पर लगाया है वह कंपनी किस स्तर पर है यह भी आप म्यूचल फंड में जान सकते हैं।

इसी के साथ अगर बात करें म्यूचल फंड में ऐसे टॉप कंपनीज के शेर होते हैं जहां पर आपके शहर आपके पैसे लगाए जाते हैं और वह फिर किस कंपनी में से हरेक कंपनी तो लास्ट नहीं होने वाली तो इस कारण आपका पैसा अगर म्यूचल फंड में अब 4 से 5 साल भी अगर रखते हैं तो आपका पैसा तीन से 4 गुना तक बढ़ सकता है मगर आपको म्यूचल फंड में यह बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपको long-term पर ही काम करना है जैसे आप फिक्स्ड डिपॉजिट में 10 साल के लिए 15 साल के लिए वेट करते हैं उसी प्रकार हमें म्यूचल फंड में 10 से 15 साल के लिए वेट करना पड़ता है अगर 10:15 साल आप अगर वेट करते हैं तो अपने पैसे को पास से 10 गुना तक बढ़ा सकते हैं यही फायदा होता है म्यूचुअल फंड में आपके पैसे को दुगना डिगना बढ़ाने का। इसीलिए म्यूचल फंड एक बेहतर ऑप्शन है आपके पैसे को सही दिशा में सही राह पर ले कर जाने का।

तो दोस्तों आपको समझ में आ चुका होगा कि म्यूच्यूअल फंड और फिक्स्ड डिपॉजिट में क्या फर्क है और आपको किसने पैसा लगाना चाहिए जो पैसा आपका सुरक्षित रहें और अच्छा रेट ऑफ इंटरेस्ट में दें। आशा करता हूं कि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो कि आप अगर फिक्स डिपाजिट और म्यूचल फंड का डिटेल में जानकारी पाना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करें इसके ऊपर भी एक पोस्ट हम लाएंगे तो दोस्तों पोस अच्छी लगी होगी तो लाइक और शेयर जरूर कीजिए और हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब जरूर कीजिए।

About Post Author

Business Facts

हेलो दोस्तों आप सभी का स्वागत है। मेरा नाम संजय है। मै यहाँ आपके लिए विविध प्रकारके बिज़नेस आइडियाज शेयर करता हु। हमारे इस वेबसाइट पर। आप सभी को जीवन में अपना बिज़नेस स्टार्ट करना है। तो मेरे इस वेबसाइट के जरिये आप कोई भी बिज़नेस स्टॉर्ट करने से पहले इस वेबसाइट पर आपको बहुत से यैसे बिज़नेस आइडियाज मिलेंगे जो आप पढ़कर एक बार आईडिया ले सकते है की आपका बिज़नेस में कोनसा तैयारी करनी होगी।
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here