आईटी कंपनी की नौकरी छोड़कर शुरू किया स्क्रैप टायर से फुटवेअर बनाने का काम अब कमाई सालाना 7 लाख रुपये

कोई भी बिज़नेस शुरू करने के लिए सर्च करना बहुत मुश्किल काम है। मगर मन में अगर कोई नया करने की थान लिया जाये तो कोई मुश्किल काम नहीं है। जो लोग अपना खुद का बिज़नेस करने की शौच रहे है। यदि आप कोनसा बिज़नेस शुरू करे यह सोच रहे है तो उनके लिए यह पोस्ट में दिए कहानी आपको एक नया आईडिया देगी। आज मई आपको एक महिला बिज़नेस वुमन की कहानी बताने जा राहै हु जिन्होंने अपने नए रीसर्च से एक नया बिज़नेस शुरू किया जो स्क्रैप टायर से बने फुट वेअर बनाने का बिज़नेस जो उन्हें आज सालाना 7 लाख रुपये की कमाई करके देता है।

पुणे की रहने वाली पूजा आप्टे ने अपनी आईटी कंपनी की नौकरी छोड़ कर 28 साल की उम्र में नया अपना खुदका बिज़नेस शुरू किया है। उन्होंने अपने इस नए स्टार्टअप को शुरू करने के लिए कैसे रिसर्च किया और इसके लिए पैसे कहासे लाये इसकी पूरी जानकारी आज हम देने जा रहे है। इस पोस्ट से जो लोग एक नया बिज़नेस करने की शौच रहे है उनके लिए एक नया तरीका और आइडियाज मिल सकता है।

पुणे के यूनवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक अंड टेलिकॉम इंजिनीरिंग करने के बाद पूजा को एक आईटी कंपनी में नौकरी मिली वहा उन्होंने 4 साल काम किया। उसी टाइम उन्होंने दिल्ली के टेरी यूनर्वासिटी से रिन्यूअबल एनर्जी में पोस्ट graduation में डिग्री हासिल की। पढाई के बाद उन्होंने रीसाइक्लिंग और अप साइकिलिंग के बारेमे पढ़ना शुरू किया। पढाई करते वक्त उन्हें पता चला की प्लास्टिक के बारे में सभी लोग जानते है पर टायर से भी हम कुछ प्रोडक्ट्स तैयार कर सकते है यह बहुत कम लोग जानते है। उनका कहना है की दुनिया में हर साल 100 करोड़ से भी ज्यादा टायर फेका जाता है। उसमे से सिर्फ ०.1 % से ही कम REUSE किया जाता है। इसका ही उपयोग करके उन्होने इस नए अविष्कार का इस्तेमाल अपने स्टार्टअप आइडियाज में किया। उनका यह आइडियाज उन्होंने स्टार्टअप इंडिया में प्रस्तुत किया वहा उन्हें इसके लिए अवार्ड दिया गया। उसके लिए उन्हें भारत सर्कार के और से 50 हजार की नगद राशी का इनाम दिया गया। उसका उन्होंने अपने बिज़नेस के लिए जो इन्वेस्टमेंट लगत के लिए उसे किया। उसके लिए और अपने और से 50 हजार रुपये लगाके। अपना बिज़नेस १००००० रुपये की राशि लगाकर शुरू किया।

अपने बिज़नेस बारे में बताते हुए वह कहती है , शुरू में इसका आइडियाज उन्हें रिसर्च करते वक्त पता चला की इसके लिए पहेलेसे यूज़ करने वाले अफ्रीकी समुदाय से पता चला। उनसे प्रेरित होकर उन्होंने अपना बिज़नेस शुरू किया। और एक सुन्दर जुटे डिज़ाइन करके मार्किट में उतारे। शुरू में वह कहती है इसका बिज़नेस शुरू करने के लिए अगर आप शोच रहे है तो आपको पहले तो एक कस्टमर को नीड देख कर अपना स्टार्टअप स्टार्ट करना होगा। उसे अगर आप संतुस्ट कर सके तो फिर आप आगे बढे। अपना स्टाटर्टअप शुरू करे।

उन्होंने अपने प्रोडक्ट के बारे में बताया की इस बिज़नेस में बहुत से लोगोने मदत की जैसे इसका डिज़ाइन करना अलग टाइप के जुटे डिज़ाइन करना उसके लिए रिसर्च करना इसके लिए उन्हें शुरू में ५० हजार रुपये का इन्वेस्टमेंट जो लगा था और उन्होंने जो प्राइस उन्हें मिला था उसका उपयोग उन्होंने उसमे किये। इसके लिए उन्हें एक पैसे का इन्वेस्टमेंट में मदत हुई। उसके बाद उन्होंने प्रोडक्शन के लिए 50 हजार का इन्वेस्टमेंट खुद लगा दिया।

पूजा के लिए यह प्रोटोकॉल बनाना इतना आसान नहीं था शुरू में वह जब लोकल मोची के पास गई तो शुरू में उन्होंने मना कर दिए उन्होंने उसे कहा की यह हो नहीं सकता। पर कुछ मोती के हेल्प से उन्होंने यह प्रोटोकॉल को बनाया। फिर उसके बाद अप्रैल 2019 में उन्होंने अपना प्रोडक्ट को मार्किट में लॉन्च किया।

पूजा कहती है की मैन और वुमन कैटगरी में 35 प्रकारके प्रोडक्ट उन्होंने लॉन्च किये है। उन्होंने यह प्रोडक्ट को ऑनलाइन प्लेटफार्म पर बेचना शुरू किये। उनका पुणे में छोटा सा वेयर हाउस भी है। वहा वह इसका रॉ मटेरियल और नए डिज़ाइन का काम किया जाता है। इसके लिए उन्हें बहुत से कारगर मदत करते है।

पूजा कहती है शुरू में वह खुद प्रोडक्ट की फैब्रिक पसद करती है और खुद ही टायर लाकर फुट वेअर बनती है।अभी अभी एक डिज़ाइनर उनसे जुड़ा है। उसके मदत से यह काम वह अभी करती है। इसका यह नया अविष्कार मार्किट में लोग पसंद कर रहे है। लोगोको उनका प्रोडक्ट पसंद आ रहा है।

52 / 100

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *